CDS Bipin Rawat Death CDS बिपिन रावत नहीं रहे Indian Army Helicopter Crash Today

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

CDS Bipin Rawat Death सीडीएस बिपिन रावत नहीं रहे:. Indian Army Helicopter Crash Today, Bipin Rawat Salary, Today Army Helicopter Crash, Cheetah Helicopter Crash, Udhampur Helicopter Crash तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार की दोपहर सेना का Mi-17V5 हेलिकॉप्टर क्रैश, जिसमें CDS जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका सहित 14 लोग सवार थे. न्यूज एजेंसी एनएआई के मुताबिक इस घटना में करीब 13 लोगों की मौत हो गई है, जिनमें जनरल बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका के भी शामिल होने की जानकारी है. जबकि वायु सेना की तरफ से जनरल बिपिन रावत की मौत की भी पुष्टि कर दी गई है. जानकारी के मुताबिक, सीडीएस बिपिन रावत अपनी पत्नी के साथ वेलिंगटन में एक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे. कुन्नूर के घने जंगल में यह हादसा हुआ था.

CDS Bipin Rawat Death
CDS Bipin Rawat Death

हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें: Click Here


बिपिन रावत परिचय

बिपिन रावत का जन्म 16 मार्च 1958 को देहरादून में हुआ. बिपिन रावत के पिताजी एल एस रावत भी फ़ौज में थे. इनकी पत्नी का नाम मधुलिका रावत है. बिपिन रावत के दो पुत्रियां है। इनका बचपन फौजियों के बीच ही बीता और इनकी शुरूआती पढाई सेंट एडवर्ड स्कुल शिमला में हुई. उसके बाद उन्होंने इंडियन मिलट्री एकेडमी में एडमिशन लिया और देहरादून चले आये. उन्हें अपने प्रयासों में सफलता 16 दिसंबर 1978 में मिली. उन्हें गोरखा 11 राइफल्स की 5वीं बटालियन में शामिल किया गया. यहीं से उनका सैन्य सफर शुरू हुआ.

परिचय बिंदुपरिचय
नामबिपिन रावत
जन्म दिनांक16 मार्च 1958 (देहरादून)
मृत्यु08 दिसंबर 2021
सेवाभारतीय सेना में
पददेश के प्रथम CDS अधिकारी
उम्र63 वर्ष
वैवाहिक स्थितिविवाहित
पत्नी का नाममधुलिका रावत
जाती (धर्म)क्षेत्रीय राजपूत (हिन्दू धर्म)
बच्चे2 बेटियां


हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें: Click Here

जनरल बिपिन रावत की उपलब्धियां

  • 1978 में सेना की 11वीं गोरखा राइफल्स की पांचवी बटालियन में कमीशन मिला था.
  • भारतीय सैन्य अकादमी में उन्हें सोर्ड ऑफ ऑनर मिला.
  • 1986 में चीन से लगी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर इंफैंट्री बटालियन के प्रमुख थे.
  • जनरल रावत ने राष्ट्रीय राइफल्स के एक सेक्टर और कश्मीर घाटी में 19 इन्फैन्ट्री डिवीजन की अगुआई भी की.
  • बिपिन रावत ने कॉन्गो में संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन का नेतृत्व भी किया.
  • एक सितंबर 2016 को उप सेना प्रमुख की जिम्मेदारी संभाली थी.

 

बिपिन रावत का परिवार

बिपिन रावत की पत्नी मधूलिका रावत आर्मी वेलफेयर से जुड़ी हुईं थीं. वो आर्मी वुमन वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष भी थीं. बिपिन रावत अपने पीछे दो बेटियों को छोड़कर गए हैं. एक बेटी का नाम कृतिका रावत है. दोनों बेटियों ने मां-बाप को एक साथ खो दिया है.

Bipin Rawat Family
Bipin Rawat Family

 

भारतीय आर्मी में शामिल बिपिन रावत

परिचय बिंदुपरिचय
आर्मी ज्वाइन कब की16 दिसंबर 1978
पहली जोइनिंगगोरखा बटालियन 5


अंतराष्ट्रीय स्तर भी सैन्य सेवाएँ दी

परिचय बिंदुपरिचय
अंतराष्ट्रीय स्तर पर7000 लोगों की जान बचाई
देशों में सेवा दीनेपाल, भूटान, कजाकिस्तान इत्यादि

 

Bipin Rawat Salary

कोरोना से लड़ने के लिए हर महीने दिए 50,000 रुपए: कोरोना की पहली लहर की बात है. दुनिया को कुछ भी अंदाजा नहीं था कि यह जानलेवा वायरस आगे क्या दिन दिखाने वाला है. उस समय कोविड-19 रिलीफ के लिए पीएम केयर्स फंड बनाया गया था. जो भी चाहे देश की जनता को राहत देने के लिए इसमें अपनी स्वेच्छा से दान दे सकता था. देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत उन पहले लोगों में से थे, जिन्होंने सबसे शुरुआत में इस फंड के लिए अपनी ओर से योगदान देना शुरू कर दिया था. जनरल रावत हर महीने अपनी सैलरी से पीएम केयर्स फंड में 50,000 रुपए बतौर दान देने लगे. पीएम मोदी ने पिछले साल मार्च में कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए इस फंड की स्थापना की थी.

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a Comment

Join TelegramJoin WhatsApp